जीना इसी का नाम है

वो कुछ खास थी ,

चेहरे पर जीवन की जलती-बुझती प्यास थी ,

आँखों में न जाने किस की तलाश थी ,

उसके मुस्कुराते होठों की लाली बड़ी खास थी ,

बालों में नए ज़माने की चमक भी साफ़ थी ,

खूबसूरत रंगीले कपड़ों में अंग्रेज़ी झलक लाजवाब थी ,

वो मुझे छू कर निकली तो महक मेरे साथ थी ,

वो फूलों सी नाज़ुक , चाल उसकी लाजवाब थी ,

मैं अपलक उसे ताकती कितनी हैरान थी ,

मैं अपनी उम्र की थकान लिए अपने भीतर झाँक रही थी ,

वो वॉकिंग स्टिक लिए , गर्व से मुस्कुराते हुए चल रही थी ।

3 thoughts on “जीना इसी का नाम है

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s